डोनाल्ड ट्रंप की धमकी पर शशि थरूर बोले – जब भारत चाहेगा तभी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत को जवाब देने की धमकी पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने उनकी आलोचना की है. एक ट्वीट में शशि थरूर ने कहा, ‘वैश्विक मामलों में अपने दशकों के अनुभव के दौरान मैंने कभी भी किसी भी देश के मुखिया या सरकार को दूसरे को इस तरह धमकाते नहीं देखा. राष्ट्रपति जी, भारत की हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन आपकी सप्लाई कैसे हुई? आपकी सप्लाई यह तब होगी जब भारत इसे आपको बेचने का फैसला करेगा.’

इससे पहले अमेरिका ने भारत को चेतावनी दी थी कि अगर उसने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात पर लगी रोक नहीं हटाई तो वह भी इसका जवाब देगा. भारत को अपना अच्छा सहयोगी बताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था, ‘अगर यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया है तो मुझे हैरानी है….मैंने रविवार की सुबह फोन पर उनसे बात की थी और मैंने कहा कि अगर वे सप्लाई पर लगी रोक हटा दें तो हमारी काफी मदद होगी. अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया तो कोई बात नहीं. लेकिन हां, इसका जवाब दिया जा सकता है.और क्यों नहीं दिया जाएगा!’

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन को कोरोना वायरस के लिहाज से अहम दवा माना जा रहा है. भारत इसका सबसे बड़ा उत्पादक है. बीते हफ्ते सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी थी. सरकार का कहना था कि कुछ विशेष परिस्थितियों में या फिर मानवीय आधार पर ही इसे बाहर भेजा जाएगा. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्ज ने कोरोना वायरस के मरीजों के साथ काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों का इलाज करने के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन को मंजूरी दी है.

इस बीच, खबर आ रही है कि भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन और कुछ दूसरी दवाओं के निर्यात से प्रतिबंध आंशिक रूप से हटा दिया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव के अनुसार यह कदम मानवीय आधार पर उठाया गया है. ये दवाएं कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित उन देशों को भेजी जाएंगी जिन्हें भारत से मदद की आस है. हालांकि, इनका निर्यात घरेलू जरूरतें पूरी होने के बाद स्टॉक की उपलब्धता के आधार पर ही होगा. विदेश मंत्रालय का कहना है कि इस महासंकट के समय में भारत को उम्मीद है कि दुनिया एकजुट होकर लड़ेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *